कोरोना वायरस का अज्ञात रोगी

कोरोना वायरस के संक्रमण की समस्या पूरी दुनिया के लिए बहुत ही चिंताजनक विषय है। अगर इसके रोकथाम का समय रहते कोई सटीक उपाय हाथ न लगा तो भविष्य का दृश्य बहुत ही भयावह हो सकता है। आज विश्व की करोड़ों जनसंख्या इस कोरोना वायरस के बिछाए जाल में फंस चुकी है। और यह महामारी रुकने का नाम ही नहीं ले रही, तो आइए देखते हैं कि यह किसको कितना प्रभावित कर रहा है :-

कोरोना से संदिग्ध(suspect )व्यक्ति :

इसके अंतर्गत व्यक्तियों का वह समूह आता है, जो हाल ही में किसी कोविड -19 प्रभावित देश से आया हो या फिर किसी कोरोना प्रभावित व्यक्ति से मिला हो अथवा उसके अंदर सांस फूलना, सर्दी-जुकाम, बुखार, खांसी जैसे लक्षण दिखाई दे रहे हो। इन सभी परिस्थितियों में व्यक्ति विशेष कोरोना का मरीज हो भी सकता है और नहीं भी।

suspect of corona

कोरोना से प्रभावित व्यक्ति :

इसके अंतर्गत कोरोना से संक्रमित रोगी आते हैं। जिनका संक्रमण प्रयोग द्वारा सिद्ध करके पता लगाया जा चुका है, और उन्हें आइसोलेट करके उनका ट्रीटमेंट किया जाता है। कोरोना वायरस से अधिकतर वृद्ध अथवा उम्रदराज व्यक्ति, डायबिटीज, कैंसर, किडनी, ह्रदय रोगी या जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत ही कमजोर है, वह प्रभावित हो रहे हैं।

patient of corona

कोरोना वायरस का वाहक या कैरियर :

वह व्यक्ति या व्यक्तियों का समूह जिनकी रोगों से लड़ने की क्षमता बहुत ही प्रबल है या किन्ही कारणवश वे कोरोना वायरस के संपर्क में आकर भी उसके शिकार नहीं हुए। लेकिन, वायरस को अनजाने में ही अपने से दूसरों में फैला रहे हैं और उनमें कोरोना वायरस से संबंधित रोग के कोई लक्षण भी प्रदर्शित नहीं हो पा रहे हैं। ऐसे व्यक्ति इसके वाहक या कैरियर कहलाते हैं।

carrier of corona

इसका एक सटीक उदाहरण कुछ इस प्रकार से है :  मैरी मैलन को टाइफाइड मैरी के नाम से भी जाना जाता है, माना जाता है कि एक आयरिश-जनित कुक ने 51 लोगों को संक्रमित किया था, जिनमें से तीन की मृत्यु टाइफाइड बुखार से हुई थी, और संयुक्त राज्य अमेरिका में पहले व्यक्ति को बीमारी के एक स्पर्शोन्मुख (sympathomatic ) वाहक के रूप में पहचाना गया था। क्योंकि वह एक रसोइए के रूप में काम करने के लिए कायम थी, जिसके द्वारा उसने दूसरों को बीमारी से अवगत कराया। उसे अधिकारियों द्वारा दो बार जबरन Quarantine किया गया था, और आइसोलेशन में लगभग तीन दशकों के बाद उसकी मृत्यु हो गई।

ये भी पढ़े :-

इस प्रकार से वाहक या कैरियर को और कोरोना सस्पेक्ट को हम कोरोना वायरस का अननोन पेसेंट कह सकते हैं। क्योंकि, इनका रोगी होना सिद्ध नहीं होता है जब तक कि प्रयोगों द्वारा इनकी जांच ना की जाए।

दोस्तों, मुझे उम्मीद है कि यह आर्टिकल आप लोगो को पसंद आया होगा। इससे सम्बंधित कोई भी सवाल या सुझाव आप हमसे कमेंट करके साझा कर सकते है। gyanlelo.com से जुड़े रहने के लिए धन्यवाद !

Abhishek Kumar Singh

Abhishek Kumar Singh is a founder of Gyanlelo.com He loves to help people. Entreprenuer | Content Creator | Blogger | Medical Lab Technologist by Education

3 thoughts on “कोरोना वायरस का अज्ञात रोगी

  • April 24, 2020 at 5:31 am
    Permalink

    Your efforts for awaring the people regarding the drastic consequences of Corona Infection and Health concerns are Highly Appreciated.
    Good Work!!
    Wish you all Success in future endeavor.
    Surya Teja Pk
    Banaras Hindu University, Varanasi.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!