बवासीर (piles) के कारण और उपाय

बवासीर (piles) को हम पाइल्स भी कहते हैं। बवासीर  anus या गुदा द्वार की नलिकाओ पर अत्यधिक दबाव के कारण उत्पन्न होता है। यह किसी भी उम्र के पुरुष तथा महिलाओं को हो सकता है। जब anus में सूजन या मस्से आ जाते हैं तो मल त्यागने के दौरान बहुत ही ज्यादा असहनीय दर्द होता है। बवासीर एक बहुत ही गंभीर बीमारी है, जिसके कई इलाज एलोपैथी और आयुर्वेदिक दवाओं के माध्यम से किया जाता है और अगर हम इन दवाओं के इस्तेमाल से पहले कुछ घरेलू उपाय को प्राथमिकता दे तो हम निश्चित ही दवाओं के सेवन से बचने के साथ-साथ इस बीमारी का आसानी से इलाज खुद ही कर सकते हैं। तो सबसे पहले हम यह जानते हैं कि बवासीर क्या है और इसके लक्षण क्या है:

cure and cause of piles

बवासीर (piles) और उसके लक्षण :-

  • Anus यानी गुदाद्वार में सूजन
  • Rectal area में दर्द
  • खुजली होना
  • जलन होना
  • मल त्याग करते वक्त रक्त का आना
  • पेट का साफ ना होना।

अगर यह सब लक्षण किसी व्यक्ति में दिखाई देते हैं तो हो सकता है कि वह व्यक्ति पाइल्स जैसी गंभीर बीमारी से पीड़ित है।

बवासीर (piles) होने के कारण :-

  1. मोटापा : मोटापा की वजह से ज्यादातर लोगों में मल त्याग करते समय दिक्कत आने लगती है। जोकि बवासीर का एक कारण बन सकता है।
  2. खानपान की आदतें : खानपान में गड़बड़ी यानी कि बेकार चीजों को खाने (जो आसानी से पच ना सके) से भी बवासीर (piles) की समस्या उत्पन्न होती है।
  3. गैस की समस्या : गैस की समस्या वाले रोगों में बवासीर होने की संभावना ज्यादा रहती है।
  4. पुरानी कब्ज : पुरानी कब्ज भी बवासीर होने का प्रमुख कारण है।

कभी कभी यह बीमारी एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी के लोगों में भी देखने को मिलता है।

आयिये अब जानते हैं कुछ आसान और घरेलू उपायों के बारे में जिससे हम बवासीर की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं….

  1. जीरा : थोड़ी मात्रा में जीरा और मिश्री के मिश्रण को चूसने से पाइल्स में फायदा मिलता है।
  2. आंवला : आंवले के थोड़े से चूर्ण को शहद के साथ सुबह शाम लेने पर यह भी बहुत ही फायदेमंद साबित होता है।
  3. तिल : अगर आपको बवासीर में खून आने की समस्या है तो आप 10 से 12 ग्राम काले तिल को मक्खन के साथ लें तो इसमें काफी आराम मिलेगा।
  4. नीम : नीम के तेल को रोज 4 से 5 बूंद पीने तथा इसकी कुछ बूंदों को मस्सों पर लगाने से सूजन तथा दर्द में राहत मिलती है।
  5. किशमिश : रात में 10 से 15 किसमिस की कलियों को भिगो कर रख दें और सुबह फुले हुए किशमिश को पानी के साथ खाएं यह बवासीर में काफी फायदेमंद होता है।
  6. हींग : रोज सुबह खाली पेट एक गिलास पानी में थोड़ा हींग घोलकर पीने से काफी फायदा होता है। हींग हमारे पेट के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। बवासीर के मरीजों को अपनी डाइट में हर रोज हींग लेना ही चाहिए।
  7. अंजीर : सूखे अंजीर को रात भर भिगोने के बाद सुबह खाली पेट लेने से काफी फायदा होता है।

इन सभी उपायों के अतिरिक्त हमें रोज 8 से 10 गिलास पानी तथा समय पर भोजन भी करना चाहिए। फलों के जूस तथा सब्जियों के सूप भी बवासीर के लिए काफी फायदेमंद होता है।

ये भी पढ़ें :-

इन सभी उपायों का अनुशासित तरीके से पालन करके आप लोग बवासीर जैसी बीमारी से भी छुटकारा पा सकते हैं।

मुझे उम्मीद है कि यह आर्टिकल आप लोगों को बहुत पसंद आया होगा। इससे जुड़े किसी भी प्रश्न अथवा सुझाव को आप कमेंट करके हमसे साझा कर सकते हैं। gyanlelo.com से जुड़े रहने के लिए धन्यवाद!

Abhishek Kumar Singh

Abhishek Kumar Singh is a founder of Gyanlelo.com He loves to help people. Entreprenuer | Content Creator | Blogger | Medical Lab Technologist by Education

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!